कण्वाश्रम मेला 6 फरवरी से, तैयारियां शुरू

जयन्त प्रतिनिधि।
कोटद्वार। कण्वाश्रम बसन्त पंचमी मेला समिति के तत्वाधान में बसन्तोत्सव मेला विगत वर्षो की भांति इस वर्ष भी आगामी 6 से 10 फरवरी तक आयोजित किया जायेगा। गुरूवार को आयोजित बैठक में मेले की तैयारियों को लेकर विचार विर्मश किया गया।
कण्वाश्रम में आयोजित बैठक में मेला स्थल सौंदर्यीकरण, यातायात व्यवस्था, पार्किंग सुविधा, पेयजल, विद्युत व्यवस्था, कोटद्वार से कण्वाश्रम तक सड़कों के गड्ढ़े भरने, मवाकोट से कलालघाटी तक मार्ग सुधारीकरण, दुकानों के स्थल चयन, अस्थाई शौचालय निर्माण किए जाने के लिए संबंधित अधिकारियों को जिम्मेदारी सौंपी गई। मेला संयोजक वीरेन्द्र सिंह रावत ने बैठक में बताया कि इस वर्ष मेला पांच दिवसीय किया जा रहा है। 6 व 7 फरवरी को कोटद्वार नगर में मेला विस्तार किया गया है। दोनों दिन शहर के सरकारी व अर्धसरकारी विद्यालय के बच्चों का मार्च पास्ट व कण्वाश्रम की झांकी निकाली जायेगी। जिसमें कोटद्वार से कण्वाश्रम तक दीवारों पर कण्वऋषि, शकुन्तला व दुष्यन्त, राजा भरत की कलाकृतियों को प्रदर्शित किया जाएगा। इस दौरान ग्यारह सौ महिलायें भी कलश यात्रा में शामिल होगी। 8 फरवरी से 10 फरवरी तक कण्वाश्रम में पूर्व की भांति खेलकूद, सांस्कृतिक कार्यक्रम, मैराथन दौड़, सरकारी व समूहों के स्टॉल प्रदर्शनी, मेले का सीधा प्रसारण, योगाभ्यास आदि कार्यक्रम होंगे। बैठक में भाजपा जिलाध्यक्ष शैलेन्द्र सिंह बिष्ट ने कहा कि कण्वाश्रम एक ऐतिहासिक धरोहर है इसे संजोए रखने के लिए यहां की जनता का सहयोग अपेक्षित है। मेले में क्षेत्रीय विधायक व मंत्री डा. हरक सिंह रावत व प्रदेश के मुख्यमंत्री भी शिरकत करेंगे। बैठक में पार्षद शैलेन्द्र डबराल, मनीष भट्ट, दीपक लखेड़ा, कमल नेगी, मनोज पांथरी के अलावा वीरेन्द्र रावत, सीपी नैथानी, अमित भरद्वाज, विजय लखेड़ा, गजेन्द्र मोहन धस्माना, सुरेन्द्र विजल्वाल, सुभाष जखमोला, सुरेश शर्मा, संजय नैथानी, चन्द्रप्रकाश बलोधी, विनोद बहुखण्डी, राजेश गौड़, राजीव डबराल आदि उपस्थित थे।

You might also like More from author

Leave A Reply

Your email address will not be published.